19 Amazing Facts | शंबाला के बीचो बीच कैलाश पर्वत ? भीतर पिरामिड के अनसुलझे रहस्य | | Extreme_Sports | Channify

Coming Up Next

Add More Videos To your Channel

1. Kailash Parvat is believed to be made of of pure crystal, gold, rubies, and lapiz lazuli precious stones. कैलाश पर्वत स्फटिक , सोना, माणिक एवं लैपिज़ लाजुली से बना है | 2. The four sides of the mountain face the four cardinal directions. पर्वत के चारो मुख चारो दिशाओ को दर्शाती है | 3. The four sides resemble lion, horse, elephant, and peacock. पर्वत के चारो मुख कही से सिंह जैसा, तो कही से घोड़े जैसा, हाथी जैसा, और मोर जैसा दिखाई देते हैं | 4. The summit resembles Lord Shiva's face. शिखर पर साक्षात् महादेव के चेहरा दिखाई देता हैं | 5. It is the holy place of 4 religions - Hinduism (Sanatan Dharma), Tibet, Buddhism, and Jainism. चार मतों का पवित्र स्थल हैं - सनातन धर्म, तिब्बती,बौद्ध, और जैनी | 6. Ancient Hindu texts refer to Mt Kailash as Meru, Sumeru, Dev Parvat, etc. पुराणों में कैलाश पर्वत को मेरु, सुमेरु, देव पर्वत, इत्यादि के नाम से भी जाना गया है | 7. The contours of the mountain keep changing. पर्वत के परिरेखायें निरंतर बदलते रहते हैं | 8. The 2 lakes in front of it Mansarovar and Rakshastal are contrasting in nature. इसके समीप दो झील मानसरोवर और राक्षसतल भिन्न स्वभाव के हैं | 9. Circumbation of the holy mountain is done anti-clockwise. कैलाश पर्वत का परिक्रम वामा व्रत की जाती हैं | 10. Devotees/ Trekkers here experience accelerated growth of ageing. भक्तो ने यहाँ शीघ्र गति में काल प्रभावन महसूस किया | 11. Flying lights are seen at night at the summit of Kailash. रात को कोई ज्योति दिखाई पड़ती हैं शिखर पर उड़ती हुई | 12. The holy symbol of Swastika forms on the southern side of the Mt Kailash at sunset. सूर्यास्त समय इसके दक्षिण मुख पर स्वस्तिक का चिन्ह पड़ता हैं | 13. The Mt Kailash is at a distance of 6666km from the north pole and exactly double 13222km from the south pole. कैलाश पर्वत उत्तरी ध्रुव से ६६६६ km की दूरी पर हैं और दक्षिणी ध्रुव से ठीक उसका दुगना १३२२२ कम की दूरी पर हैं | 14. According to ancient Hindu texts it is the centre of the world which has now been proved and called Axis Mundi by western science. वेदो में इसे भूमि का केंद्र कहा गया हैं जो आज पश्चिमी वैज्ञान ने माना और इसे एक्सिस मुंडी कहते हैं | 15. A Russian Scientist made a thesis on the belief that Kailash Parvat is the world's biggest pyramid and is surrounded by a complex of pyramids. एक रूसी शस्त्रवेत के अनुसार कैलाश पर्वत दुनिया का सबसे बड़ा पिरामिड हैं और उसके आस पास पिरामिड का भवन समूह हैं | 16. It is believed to be hollow from inside. इसे अंदर से खोखला माना जाता हैं | 17. Noone has been able to scale the mountain till date. आज तक कोई भी इसपर चढ़ नहीं पाया हैं | 18. There is high levels of radioactivity radiation near the mountain. इसके आसपास तीव्र गति में रेडिओएक्टिविटी विकीर्ण होती हैं | 19. Hidden Kingdoms such as Shambhala and Aghartala are supposed to be in this area which are believed to be visible only to highly spiritual people. इसी प्रान्त में शम्भाला और अगरतला जैसे अदृश्य नगारे हैं और मान्यता हैं की वह केवल निहायत धार्मिक लोगो को ही दिखाई देती हैं |

Created By TDR Enjoy!